भारत में नए साल का जश्न मनाने के लिए सबसे खूबसूरत जगहें

Shivani sahu
8 Min Read

1. मनाली, हिमाचल

Manali

भारत में नए साल के जश्न के लिए हिमाचल के सबसे खूबसूरत पहाड़ी शहर में बर्फ में खेलें!नए साल की शानदार शुरुआत के लिए, आप मनाली में बहुत सारी रोमांचक चीज़ें कर सकते हैं!

जैसेकी,आप पैराग्लाइडिंग, स्कीइंग और बर्फ से ढकी खीरगंगा तक ट्रैकिंग जैसी गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। और आप मनाली में तिब्बती मठ, वन विहार और वशिष्ठ मंदिर सहित कई आकर्षक आकर्षणों की यात्रा कर सकते हैं, जिनमें से सभी को सुंदर रोशनी से सजाया जाएगा और नए साल के दौरान आनंदमय उत्सव में डुबोया जाएगा। और आगामी सुखी समृद्ध वर्ष के लिए प्रार्थना करने के लिए भव्य मणिकरण साहिब गुरुद्वारे में रुकना न भूलें!

बर्फ से ढके पहाड़ों के बीच स्थित,खूबसूरत घास के मैदानों, देवदार के पेड़ों, प्राचीन मंदिरों और शानदार पहाड़ियों से घिरी इस जगह में हर किसी के लिए कुछ न कुछ है।

और जब आप मनाली में हों तो आपको कम से कम एक बार ट्रैकिंग का प्रयास जरूर करना चाहिए। यह सर्वविदित तथ्य है कि मनाली बड़ी संख्या में पैदल यात्रियों, ट्रैकर्स, पर्वतारोहियों और अन्य लोगों को आकर्षित करता है।
आप हमेशा से किसी पहाड़ पर चढ़ना या ट्रेक पर जाना चाहते थे, तो अब समय आ गया है। शुरुआत करने के लिए, आप लामादुग जैसे सभी मध्यम ट्रेक देख सकते हैं, और उन चीजों का अनुभव करने के लिए निकल सकते हैं जो आपने पहले कभी नहीं किया है।

2. गोवा

Goa

अगर आप भारत में बेहतरीन न्यू ईयर पार्टी की तलाश में हैं तो सीधे गोवा आएं।

गोगोवा भारत की सबसे अच्छी जगहों में से एक है।गोवा की रचना भगवान परशुराम ने की थी। उन्होंने अपने बाणों से समुद्र को कई योजन पीछे धकेल दिया था। आज भी गोवा के कई स्थानों के नाम वाणावली, वाणस्थली इत्यादि हैं। उत्तरी गोवा में हरमल के पास भूरे रंग का एक पर्वत है। इसे परशुराम के यज्ञ करने का स्थान माना जाता है। ऐतिहासिक दृष्टि से गोवा के बारे में सबसे पहले महाभारत में लिखा गया था। उस समय गोवा का नाम ‘गोपराष्ट्र’ यानी ‘गाय चराने वाले का देश’ हुआ करता था। माना जाता है कि गोवा, ‘गोपराष्ट्र’ का ही अपभ्रंश है।

आप वहां अपने सपनों की जिंदगी का आनंद ले सकते हैं। गोवा अपने समुद्र तटों के लिए भी जाना जाता है, जिसमें बागा और पालोलेम के लोकप्रिय हिस्सों से लेकर अगोंडा जैसे आरामदेह मछली पकड़ने वाले गांवों तक शामिल हैं।

अगर आपको नाइट लाइफ और क्लबिंग का आनंद लेना चाहते हैं तो आपको गोवा जरूर जाना चाहिए। गोवा में ऐसे बहोत दर्शनीय स्थल है जैसे की लोकप्रिय बागा बीच,पालोलेम बीच,अंजुना बीच,वेंकटेश्वर बीच,क्लब क्यूबाना यह सारी जगह जा कर आप आनंद ले सकते हैं।

3.जैसलमेर

jaislmer

जैसलमेर की ठंडी रेत पर नए साल का स्वागत करती है

जैसलमेर का इतिहास और सुंदरता पर्यटकों को मोहित करने में कभी भी विफल नहीं होती है। आपके लिए शहर में और उसके आसपास कई आकर्षण हैं, चाहे वह जैसलमेर किले और पटवों की हवेली की भव्यता हो, जैन मंदिरों की शांति हो, या खरीदारी के स्थानों की जीवंतता और दिलचस्प रेगिस्तानी त्यौहार हों। इतना ही नहीं, रेगिस्तान में जीप टूर और ऊंट सफारी आपके उत्साह को बढ़ाने के लिए काफी है।

थार के इस सोने से रंगे शुष्क कोने में राजस्थान की समृद्ध, मादक संस्कृति और जीवंत विरासत में खुद को डुबोएं और देखें कि हर साल बिना किसी असफलता के भारत में नए साल का जश्न मनाने के लिए सबसे अच्छी जगहों की सूची में जैसलमेर कैसे शामिल होता है!चाहे वह स्वादिष्ट ‘दाल बाटी चूरमा’ का आनंद लेना हो या रेगिस्तान में राजघराने की तरह कैंपिंग करना हो, नए साल पर जैसलमेर में हर अनुभव आपको राजस्थानी आतिथ्य के सही अर्थ से रूबरू कराएगा और आपको इसकी समृद्ध विरासत की झलक दिखाएगा।

रेगिस्तानी सूर्यास्त, विशाल झीलें, रंगीन बाज़ार, भुतहा गाँव – जैसलमेर में करने के लिए चीजों की लंबी सूची आपको भारत में नए साल का शानदार जश्न देने के लिए बाध्य है!

4. ऊटी, तमिलनाडु

ooty

विश्व प्रसिद्ध टॉप हिल स्टेशनों में से एक पहाड़ों की रानी ऊटी

ऊटी भारत में घूमने के लिए सबसे अच्छी जगहों में से एक है,नीलगिरि पहाड़ियों में बसे इस मीठे शहर में तमिलनाडु की समृद्ध संस्कृति, मिलनसार आतिथ्य, चाय की खेती की सदियों पुरानी विरासत और अछूते प्रकृति की अच्छाइयों का स्वाद लें। इस बार जो शोर-शराबे वाली पार्टियों के बजाय असीम प्राकृतिक सुंदरता को पसंद करते हैं।अपनी छुट्टियों की शुरुआत ऊटी की चाय प्रसंस्करण फैक्ट्री के जानकारीपूर्ण दौरे से करें और विशाल टी पार्क में घूमें।

भारत में सबसे खूबसूरत नए साल के गंतव्यों में से एक में अजीब आकार की चट्टानों, गिरते झरनों और विशाल झीलों का दौरा करें और इसके अलावा यहां सुंदर कॉटेज, फेंच्ड फूलों के बगीचे, फूस की छत वाले चर्च और खूबसूरत सड़के हैं यहां कुछ किलोमीटर चलते ही आप खुद को हरी-भरी प्रकृति से घिरा हुआ पाएंगे। यहां चीड़ के पेड़ काफी मात्रा में उगाए गए हैं।

ऊटी से 67 किलोमीटर दूर मुदुमलाई वन्य प्राणी विहार है। अगर आप 1-2 दिन रुकते हैं, तो वन्य प्राणी विहार को देखना आपके लिए बहुत अच्छा अनुभव होगा। यहां बहुत से पेड़-पौधे और जीव-जंतु हैं। यहां इनकी दुर्लभ प्रजातियां हैं। यहां हाथी, बड़ी गिलहरियां, सांभर, चीतल, भौंकनेवाले हिरण और उड़नेवाली गिलहरियां तो यूं ही देखने को मिल जाती हैं। इस अभयारण्य में किस्म-किस्म के पक्षियों को भी देखा जा सकता है। इनमें रंगबिरंगे तोते, काले कठफोड़वे, गरुड़ आदि शामिल हैं। और जब आप ऊटी में हों तो मौज-मस्ती का कोई अंत नहीं है!

5.कच्छ

kuccha

गुजरात के कच्छ में करें इतिहास और आधुनिकता के दर्शन एक साथ

कच्छ को प्राचीन सिन्धु संस्कृति का हिस्सा माना जाता है। गुजरात घूमने आये हैं और कच्छ का दौरा नहीं किया तो समझिये कि आपकी गुजरात यात्रा अधूरी रह गयी।कच्छ जिले में अनेक ऐतिहासिक इमारतें, मंदिर, मस्जिद और हिल स्टेशन आदि पर्यटन स्थलों को देखा जा सकता है।

कच्छ में देखने लायक कई स्थान है जिसमें कच्छ का सफ़ेद रण आजकल पर्यटकों को लुभा रहा है। इसके अलावा मांडवी समुद्रतट भी सुंदर आकर्षण है। भुज में कच्छ के महाराजा का आइना महल, प्राग महल, शरद बाग़ पैलेस एवं हमीरसर तलाव मुख्य आकर्षण है तथा मांडवी में स्थित विजय विलास पैलेस जो समुद्रतट पर स्थित है वह भी देखने लायक है। भद्रेश्वर जैन तीर्थ और कोटेश्वर में महादेव का मंदिर और नारायण सरोवर जो पवित्र सरोवरों में से एक है, वो भी घूमने लायक है।

कच्छ घूमने आना चाहते हैं तो बता दें कि भुज विमान क्षेत्र और कांदला विमान क्षेत्र यहां के दो महत्वपूर्ण एयरपोर्ट हैं इसके अलावा गांधीधाम और भुज रेलवे स्टेशन यहां से नजदीक पड़ते हैं। कच्छ सड़क मार्ग द्वारा भी देश के विभिन्न हिस्सों से जुड़ा हुआ है।

Share This Article
मैं एक लेखक के रूप में नवीनतम समाचार लिखती हूं और एक कहानीकार भी हूं।
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *