क्यों नहीं आ रहे अरविंद केजरीवाल प्रवर्तन निदेशालय (ED) के सामने

Nandani Goswami
4 Min Read

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आज 3 जनवरी को भी ईडी के सामने पेश नहीं हुए हैं। इसके पहले ED ने 2 नवंबर और 21 दिसंबर को केजरीवाल को पेश होने को कहा था। लेकिन, केजरीवाल ने इन दोनों समन को राजनीति से प्रेरित बताते हुए ED के सामने पेश हाेने से इनकार कर दिया था। इससे पता चलता है कि उनके पास छिपाने के लिए कुछ है और इसी कारण से वह एक अपराधी की तरह फरार हैं। इसको लेकर अब बीजेपी हमला बोल रही है। तीसरी बार भी सीएम केजरीवाल ने ईडी को अपना जवाब भेज दिया है। और कहा की ED की जांच में सहयोग करने को तैयार हूं, लेकिन एजेंसी का नोटिस गैरकानूनी है। और कहा की ईडी का इरादा मुझे गिरफ्तार करना है, वे हमें चुनाव प्रचार से रोकना चाहते हैं। और कहा की उन्हें किस हैसियत से बुलाया जा रहा है।

अरविंद केजरीवाल ने यह भी कहा की ”पूरे देश में इनकी केंद्र सरकार है। और मध्य प्रदेश में इनकी (बीजेपी) की 15 साल से सरकार है। हर रोज धमकी मिलती हैं कि केजरीवाल को गिरफ्तार कर लेंगे. लेकिन केजरीवाल के शरीर को तो गिरफ्तार कर लोगे देश में मौजूद हजारों केजरीवाल को कैसे गिरफ्तार करेंगे.” उन्होंने ये भी कहा हम अन्ना आंदोलन से निकले हैं। गिरफ़्तार कर लोगे, लेकिन जो रामलीला के मैदान में करोड़ों लोगों की भीड़ होती हे, उन्हें कैसे गिरफ्तार करोगे.

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि ''पूरे देश में उनकी केंद्र सरकार है।

बीजेपी के राष्ट्रीय प्रतिनिधि शहजाद पूनावाला ने कहा कि आज एक बार फिर अरविंद केजरीवाल तीसरे समन में शामिल नहीं हुए। इससे पता चल रहा है कि उनके पास छिपाने के लिए कुछ है, और अदालत ने मनीष सिसौदिया और संजय सिंह को जमानत नहीं दी है जिससे अदालतों ने माना है कि पैसे का लेन-देन हुआ है, इन सबके बावजूद वे वही पीड़ित कार्ड खेल रहे हैं।

इसके साथ कांग्रेस नेता उदित राज ने कहा कि चुनाव से ठीक पहले छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम भूपेश बघेल को ईडी के नोटिस भेजे गए थे और झूठे आरोप भी लगाए गए थे। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल विपक्षी गठबंधन का हिस्सा हैं। यह सच है कि ये एजेंसियां अपना काम नहीं कर रही हैं, बल्कि विपक्षी नेताओं पर दबाव डाल रही हैं।और आरजेडी के राज्यसभा मनोज झा कह रहे हैं कि सीधे तौर पर कहना चाहिए कि BJP ने उन्हें (अरविंद केजरीवाल) बुलाया था। ED-CBI जैसा कुछ नहीं है. BJP लड नहीं सकती और BJP सभी विपक्ष के नेताओं को बुलाएगी. क्योकि वे नहीं चाहते कि लेवल-प्लेइंग फील्ड जैसा कुछ भी अस्तित्व में रहे।

अरविंद केजरीवाल के पास छिपाने के लिए कुछ है

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा की आज तक ना तो ईडी और ना ही केंद्र ने हमें बताया कि वे किस स्थति से अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए बुला रहे हैं,वह ना तो गवाह हैं और ना ही आरोपी हैं। और उन्होंने यह भी सवाल उठाया हैं की जब सभी पार्टियां लोकसभा चुनाव की तैयारी कर रही हैं तो केंद्र सरकार द्वारा अरविंद केजरीवाल को गिरफ्तार करने की साजिश क्यों की जा रही है। ताकि वह चुनाव प्रचार न कर सकें इसलिए। फिर इसपर कमलनाथ ने जवाब देते हुए कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है, लेकिन अगर वो (केजरीवाल) ऐसा कह रहे हैं तो बात सही भी हो सकती है, क्योंकि चुनाव तो चल ही रहे हैं।

WhatsApp Image 2024 01 03 at 12.30.07 PM
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *