प्रधानमंत्री की इस योजना से जुड़ने पर मिलेगा 3 लाख का लाभ!

Nandani Goswami
4 Min Read

केंद्र सरकार द्वारा छोटे उद्यमों की शुरुआत को बढ़ावा देने के लिए कई प्रकार की योजनाओं का संचालन किया जाता है ताकि ग्राम्य और शहरी दोनों क्षेत्रों में बेरोजगार नागरिक स्वय का उद्द्योग शुरु करके अपनी आर्थिक स्थिति मजबूत कर सके। जिनमें स्वास्थ्य, राशन, आवास, पेंशन, बीमा, शिक्षा, रोजगार जैसी कई योजनाएं शामिल हैं। इन योजनाओं पर सालाना करोड़ों रुपये खर्च किए जाते हैं। ऐसा ही प्रयास केंद्र सरकार द्वारा 17 सितंबर 2023 को पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान योजना को लॉन्च करके किया गया जिसके तहत सरकार 18 पारंपरिक व्यापारों को जोड़ा गया है और आर्थिक लाभ देने का प्रावधान है।

केंद्र सरकार दवारा प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना को लांच किया गया है जिसके तहत सरकार 4 साल की अवधि के लिए लाभार्थियों को ₹300000 तक का लोन प्रदान कर रही है जिसकी ब्याज दरें केवल 5 प्रतिशत प्रति वर्ष है। यह कोलैटरल-फ्री लोन 18 पारंपरिक व्यवसाय से जुड़े नागरिको को मिलने वाला है। योजना की शुरुआत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्रालय द्वारा की गई है और योजना बनाई गई है कि योजना के रहत पात्रता रखने वाले नागरिक को स्किल ट्रेनिंग, मार्केट लिकेज सपोर्ट, डिजिटल ट्रांजेक्शन करने पर इंसेंटिव जैसे विभिन्न प्रकार के लाभ प्रदान किए जाएंगे। जिससे कि देशभर में कार्य कर रहे हमारे श्रमिक एवं परंपरागत उद्योग में माहिर व्यक्तियों को अपने रोजगार को बढ़ाने के लिए आर्थिक सहायता राशि पुप्त हो सके।

प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना को लांच किया गया है जिसके तहत सरकार 4 साल की अवधि के लिए लाभार्थियों को ₹300000 तक का लोन प्रदान कर रही है

सरकार प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत जिन उद्‌योग एवं धंधों को शामिल करेगी उनकी सूची आगे आपको बताई जा रही है। अगर आप भी भारत देश के किसी भी परंपरागत उ‌द्योग से सम्मिलित हैं तो आप पीएम विश्वकर्म योजना का लाभ प्राप्त कर अपने इस हुनर को और ऊंचाइयों पर लेकर जा सकते हैं। इसके लिए सरकार सभी जरूरी सहायता आपकी करने को लिए प्रतिबद्ध है।

पीएम विश्वकर्मा योजना के पड़ाव :-

  1. पीएम विश्वकर्मा योजना में लाभार्थियों को ₹1,00,000 तक की लोन रकम प्रदान की जाएगी। इसके भुगतान न की अवधि 18 महीने की होगी। इसके पश्चात दूसरे पड़ाव में ₹2,00,000 का लोन दिया जाएगा, इसके भुगतान अवधि 30 महीने की होगी। सबसे पहले इस योजना के तहत लाभार्थियों को बेसिक और एडवांस ट्रेनिंग दी जाएगी जो कि 5 से 7 7 दिन की होगी। इस ट्रेनिंग को पूरा करने के बाद कस्टमर को प्रथम पड़ाव का लाभ मिलेगा।
  2. दूसरे पड़ाव के तहत ₹2,00,000 का लोन लाभार्थी को तब मिलेगा जब वह पहले चरण में प्राप्त लोन को चूका देगा। इसके अतिरिक्त लाभार्थी का स्टैंडर्ड लोन अकाउंट होना भी आवश्यक है। योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को डिजिटल ट्रांजेक्शन के जरिए भुगतान आदि करना होगा। आपको इस बात का ध्यान रखना है कि पहले लोन रकम को चुकाने के 6 महीने बाद ही आपको दूसरी लोन की रकम प्राप्त होगी।

पीएम विश्वकर्मा योजना के अंतर्गत आने वाले पारंपरिक व्यवसाय की सूची :-

  • नाई
  • धोबी
  • बडई
  • खिलौने बनाने वाला
  • मछली पकड़ने की जाल
  • बनाने वाले
  • सुनार
  • लोहार
  • राजमिस्त्री
  • कुम्हार
  • मौची
  • हथौड़ा और टूलकिट
  • निर्माता
  • पत्थर तोड़ने वाले
  • मूर्तिकार
  • माला बनने वाले
  • नाव बनाने वाले
  • ताले बनाने वाला
  • झगड़ बनाने वाले
प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना

पीएम विश्वकर्मा योजना का उद्देश्य

पीएम विश्वकर्म योजना एक महत्वपूर्ण योजना है जिसकी शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा छोटे उद्यम को बढ़ावा देने के उद्देश्य से लॉन्च की गई है। इस योजना के तहत सरकार लाभार्थियों को 5% प्रति वर्ष की ब्याज दर से लोन उपलब्ध करा रही है जिसके माध्यम से छोटे उद्यम शुरू करने की इच्छा रखने वाले नागरिक आर्थिक लाभ प्राप्त करके खुद का व्यापार शुरु कर सकेंगे। इससे ग्रामीण क्षेत्र में नागरिकों को अधिक लाभ मिलेगा और बेरोजगारी भी कम होगी।

आधिकारिक वेबसाइट :- pmvishwakarma.gov.in

Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *