‘द बुल’ के लिए 3.5 घंटे की कड़ी ट्रेनिंग ले रहे सलमान खान, नहीं छोड़ना चाहते हें कोई कसर

Nandani Goswami
2 Min Read

नए साल 2024 की शुरुआत हो चुकी है इसी के साथ फैंस सलमान खान को दोबारा पर्दे पर देखने का इंतजार भी करने लगे है। सलमान खान आखरी बार बड़े पर्दे पर अपनी ब्लॉकबस्टर फिल्म ‘टाइगर 3’ में दिखाई दिए थे।अब वह अपनी अगली फिल्म की तैयारियों में जुट गए हैं। कुछ वक्त पहले ही उन्होंने अपनी फिल्म ‘द बुल’ के बारे में बताया था, जो करण जौहर की धर्मा प्रोडक्शंस के बैनर तले बन रही हैं। इस फिल्म का टाइटल ‘द बुल’ है। जिसकी शूटिंग फरवरी से शुरू होगी।

करण जौहर सलमान के साथ दोबारा काम कर रहे हैं।

‘द बुल’ में सलमान खान ब्रिगेडियर फारुख बुल्सारा की भूमिका निभाएंगे, जिन्होंने 1988 में मालदीव में ऑपरेशन कैक्टस का नेतृत्व किया था। करण जौहर ने कहा था कि वो 25 साल के बाद सलमान के साथ दोबारा काम कर रहे हैं। इस फिल्म की टीम ने 29 दिसंबर को मुंबई में महूरत शॉट शुरू किया। धर्मा प्रोडक्शंस के बैनर तले बन रही ‘द बुल’ में सलमान खान एकदम अलग रूप में नजर आने वाले हैं। और वह फिल्म में पैरामिलिट्री अफसर का रोल निभाने वाले हैं। जिसके लिए सलमान खान पैरामिलिट्री फोर्सेज के साथ हर रोज 3.5 घंटे की ट्रैनिंग ले रहे हैं.ले रहे हैं।और ब्रिगेडियर बुल्सारा का किरदार निभाने के लिए सलमान खान को कड़ी फिजिकल ट्रेनिंग से गुजरना पड़ रहा है.’ जिसके लिए सलमान ने अपनी डाइट में मामूली बदलाव भी किए हैं।

3.5 घंटे की कड़ी ट्रेनिंग

‘द बुल’ फिल्म जो विष्णु वर्धन के डायरेक्शन में बनी हैं जो ऑपरेशन कैक्टस की कहानी पेश करेगी। जिसमें 3 नवंबर, 1988 को इंडियन आर्म्ड फोर्सेज ने मालदीव की सहायता की थी। जब बिजनेसमैन अब्दुल्ला लुथुफी और पीपुल्स लिबरेशन ऑर्गनाइजेशन ऑफ तमिल प्लॉट के नेतृत्व में तख्तापलट की कोशिश की गई थी.जिसमे भारतीय सेना ने बखूबी अनेक सैनिकों को मार दिया था और कुछ ही समय के अंदर राष्ट्रपति मॉमून अब्दुल गय्यूम की सरकार पर नियंत्रण बहाल कर दिया था.

'द बुल' फिल्म
Share This Article
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *